Home उत्तराखंड गंगोत्री के पुरोहितों ने सीएम से की मुलाकात, भू बंदोबस्त के नोटिफिकेशन...

गंगोत्री के पुरोहितों ने सीएम से की मुलाकात, भू बंदोबस्त के नोटिफिकेशन की मांग

543

देवस्थानम बोर्ड के मुद्दे को लेकर राज्य सरकार चौतरफा घिरी हुई है। तीर्थ पुरोहित लगातार राज्य सरकार की मुश्किलें बढ़ाने का काम कर रहे हैं। इस बीच गंगोत्री मंदिर समिति के पूर्व पदाधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल ने पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के साथ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिला। जिसमें गंगोत्री धाम के भू बंदोबस्त को लेकर अपना पक्ष रखा। गंगोत्री मंदिर के पूर्व सचिव रावल रविन्द्र सेमवाल ने प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया। रावल रविन्द्र सेमवाल ने बताया कि 61 साल से गंगोत्री धाम में भूमि बंदोबस्त की तरफ अभी तक राज्य सरकार का ध्यान नहीं गया है। बार—बार सरकार से मांग करने के बाद भी सरकार का इस और ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि अविलम्ब गंगोत्री धाम के भूमि बंदोबस्त का नोटिफिकेशन जारी करवाए। इतना ही नहीं हिमपात से पहले राजस्व की टीम गंगोत्री धाम पहुंचकर भू सर्वेक्षण और भू मापन किया जा सके। रावल रविन्द्र सेमवाल ने कहा कि बिना भू बंदोबस्त के तीर्थ पुरोहित खुद को दोयम दर्जे के नागरिक बने हुए हैं। उन्होंने कहा कि तीर्थ पुरोहितों को अपने संवैधानिक अधिकार मिलने चाहिए। जिससे वे अभी तक वंचित हैं।
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने तीर्थ पुरोहितों को सकारात्मक विश्वास दिलाया है। इसके बाद पुरोहितों ने सीएम को गंगाजल और आर्शीवचन देकर चुनाव को लेकर शुभकामनाएं दी हैं। रावल रविन्द्र सेमवाल के साथ प्रतिनिधिमंडल में पूर्व अध्यक्ष रमेश सेमवाल, पूर्व सचिव मानेन्द्र सेमवाल, पूर्व संयोजक कृपाराम सेमवाल, पूर्व सचिव आर सी सेमवाल, पूर्व उपाध्यक्ष जिला पंचायत कुशाल सिंह, पूर्व अध्यक्ष गंगोत्री व्यापार मंडल समिति सत्येंद्र सेमवाल समेत कई तीर्थ पुरोहित शामिल रहे।

LEAVE A REPLY