Home उत्तराखंड वैक्सीनेशन की रफ्तार हुई धीमी, एस डी सी फाउंडेशन ने जताई चिंता

वैक्सीनेशन की रफ्तार हुई धीमी, एस डी सी फाउंडेशन ने जताई चिंता

522

 

पिछ्ले 50 दिन में वैक्सीनेशन मे भारी कमी, अब 50 दिन बाकी

टारगेट मे लगी बड़ी छलांग, अब लक्ष्य के लिये रोज़ 75000 टीकों की ज़रुरत

एसडीसी फाउंडेशन ने जारी किया उत्तराखंड वैक्सीनेशन मीटर का 13वां संस्करण

एसडीसी फाउंडेशन ने हर 10 दिन मे तैयार होने वाले उत्तराखंड वैक्सीनेशन मीटर का 13वां संस्करण शुक्रवार को जारी कर दिया। वैक्सीनेशन मीटर का ट्रेंड इस बार चिन्ताजनक है।

वैक्सीनेशन मीटर बता रहा है कि उत्तराखंड में पिछले 50 दिनों में वैक्सीनेशन की स्थिति बहुत धीमी रही है और अब 2021 वर्ष के अंत तक अगले 50 दिनों में टारगेट पूरा हो पाना बेहद कठिन हो गया है। पिछले 10 दिनों में राज्य में हर रोज औसत मात्र 28 हजार वैक्सीन डोज दी गई हैं, जबकि 31 दिसंबर तक टारगेट पूरा करने के लिए अगले 50 दिन में हर रोज 75 हजार डोज देने की जरूरत पड़ेगी।

एसडीसी के वैक्सीनेशन मीटर के अनुसर पिछले 10 दिनों में राज्य में वैक्सीनेशन की रफ्तार बेहद धीमी रही है। 2 से 11 नवंबर के दौरान सिर्फ 2,84,611 वैक्सीन की डोज दी गई। जबकि इससे पहले 10 दिनों में 3,80,917 डोज दी गई थी। 11 नवंबर तक राज्य में 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के 75,03,067 लोगों को पहली डोज और 42,05,158 लोगों को दोनों डोज वैक्सीन दी जा चुकी है। यानी अब तक कुल 1,17,08,225 डोज वैक्सीन दी जा चुकी हैं।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार राज्य में कोविड वैक्सीन की जरूरत वाले 18 से 44 वर्ष के लोगों की संख्या 49,34,219 और 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों की संख्या 27,95,247 है। यानी कुल 77,29,466 लोगों का वैक्सीनेशन किया जाना है। हर व्यक्ति को दो शॉट के हिसाब में राज्य में वैक्सीन की कुल 1,54,58,932 शॉट दी जानी हैं।

एसडीसी फाउंडेशन के अध्यक्ष अनूप नौटियाल ने बताया कि पहले प्रतिदिन का टारगेट काफी तेजी से कम हो रहा था, लेकिन अब यह टारगेट बढ़ता नजर आ रहा है। अनूप के अनुसार सभी को वैक्सीनेशन का टारगेट पूरा करने के लिए अब 50 दिन का समय बाकी रह गया है। पिछले 10 दिनों में बहुत कम वैक्सीनेशन होने से अब प्रतिदिन दी जाने वाली डोज का टारगेट 75,014 हो गया है, जबकि 10 दिन पहले यह टारगेट 67,255 डोज प्रतिदिन था।

अनूप नौटियाल के अनुसार 14 जुलाई को जब वैक्सीनेशन मीटर का पहला संस्करण जारी किया गया था, उस समय टारगेट हासिल करने के लिए 170 दिन बाकी थे और हर दिन का टारगेट 65,192 डोज था। 22 सितंबर को जब टारगेट पूरा करने के लिए 100 दिन बाकी रह गये थे, उस समय टारगेट 59,470 हो गया था। लेकिन, पिछले 50 दिनों में वैक्सीनेशन की रफ्तार लगातार सुस्त होती गई और अब जबकि 50 दिन बाकी रह गये हैं तो यह टारगेट 75 हजार से ज्यादा डोज प्रतिदिन तक पहुंच गया है। अनूप नौटियाल ने सरकार और स्वास्थ्य विभाग से वैक्सीनेशन मे तेज़ी लाने की अपील की है।

 

LEAVE A REPLY