Home उत्तराखंड यात्रा शुरू होते ही थमा दिए पानी के बिल, तीर्थ पुरोहितों में...

यात्रा शुरू होते ही थमा दिए पानी के बिल, तीर्थ पुरोहितों में नाराजगी

284

चार धाम यात्रा के सुचारू रूप से शुरू होने के 1 हफ्ते के भीतर ही गंगोत्री में जल संस्थान ने पानी का बिल बिल थमा दीया है। यह बिल अप्रैल माह से अक्टूबर माह तक छह माह का बिल स्थानीय व्यापारियों, तीर्थ पुरोहितों को भेजा गया  है। जिससे लोगों में आक्रोश है। बता दें कि 2 साल से कोरोना संक्रमण के चलते यात्रा पूरी तरह से ठप है साथ ही धाम में तीर्थ पुरोहित बिना रोजगार के रहने को मजबूर है गंगोत्री व्यापार मंडल के पूर्व अध्यक्ष और तीर्थ पुरोहित सत्येंद्र सेमवाल ने बताया कि उन्हें पानी का बिल 5656 रुपये छह माह की अवधि का भेजा गया है। वहीं, पिछला बकाया 5271 रुपये भी इसमें जोड़ा गया है। अभी सितंबर का महीना चल रहा है, लेकिन बिल अक्टूबर माह तक का भेजा गया है। गौरतलब है कि पिछले साल भी बिलों के विरोध में गंगोत्री में साधु संत, तीर्थ पुरोहितों और व्यापारियों ने आंदोलन किया था। साथ ही जिला प्रशासन से बिलों को माफ करने को कहा गया था। उनका तर्क है कि जब यात्रा बंद थी, तो पानी और बिजली के बिलों का क्या औचित्य है। स्थानीय व्यापारियों का कहना है कि यात्रा न चलने से हुए नुकसान के मद्देनजर एक तरफ सरकार उन्हें सहायता देने की बार बार घोषणा कर रही है, वहीं दूसरी ओर बिजली और पानी के बिल भेजकर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। इसका कड़ा विरोध किया जाएगा।

LEAVE A REPLY