Home उत्तराखंड दीपावली पर 1200 से ज्यादा लोगों को 108 इमरजेंसी सर्विस ने दी...

दीपावली पर 1200 से ज्यादा लोगों को 108 इमरजेंसी सर्विस ने दी सेवा,देहरादून में सबसे ज्यादा 333 केस आए

67

धनतेरस एवं दीपावली के दौरान 108 इमरजेंसी सर्विस मुस्तैद रही| इस दौरान प्रदेशभर में कुल 1292 लोगों को आपातकालीन एम्बुलेंस की सेवाएं दी गई| 108 आपातकालीन एम्बुलेंस सेवा मुख्यालय में आज जी0एम0 प्राजेक्ट्स अनिल शर्मा ने दीपावली एवं धनतेरस के दौरान 108 आपातकालीन सेवाओं की मुस्तैदी एवं आपातकाल के दौरान लोगों को प्रदान की गयी सेवाओं की समीक्षा की। इस अवसर पर उन्होंने जनपदों में तैनात जिला कार्यक्रम अधिकारियों से भी वीडियो कान्फ्रेन्सिग के माध्यम से फीडबैक लिया। अधिकारियों ने अवगत कराया कि त्यौहारों के मद्देनज़र मुख्यालय द्वारा जारी अर्लट के दौरान 108 आपातकालीन सेवाएं प्रदेशभर में मुस्तैद रही।

साथ ही किसी भी आपात स्थित से निपटने के लिए पूर्व में की गयी व्यापक तैयारियों का भी काफी फायदा एम्बुलेंस कर्मियों को मिला।  शर्मा ने बताया कि प्रदेशभर में इस दौरान संवेदनशील स्थानों पर तैनात एम्बुलेंस जाम में न फंसे इसके लिए भी व्यापक स्तर पर तकनीकी मदद केन्द्रीय काल सेन्टर से एम्बुलेसों को प्रदान की गयी। उन्होंने कहा कि इस दौरान अधिक फोन आने की संभावना को देखते हुए अतरिक्त टेक्निकल स्टाफ की भी ड्यूटी लगायी गयी थी ताकि समस्त एम्बुलेंसों को सहायता हेतु समय से रवाना किया जा सका। 22 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक 3 दिन में धनतेरस और दीपावली के दौरान प्रदेश भर में कुल 1292 मामले सामने आए जिनमें से 399 प्रसव, 144 रोड एक्सीडेंट और 18 जलने की केस आए हैं। जिलेवार बात करें तो देहरादून में सबसे ज्यादा 333 केस आए जबकि हरिद्वार में 200 और उधम सिंह नगर में 192 केस दर्ज हैं|

उन्होंने बताया कि धनतेरस से दीपावली के दौरान प्रदेशभर में 108 आपातकालीन एम्बुलेंस वाहनों की मदद से 1 हजार 2 सौ 92 लोगों को मदद पहुॅचायी गयी। इसके साथ ही चमोली, टिहरी, पौड़ी, पिथौरागढ़, उत्तरकाशी, ऊधमसिंह नगर में कुल 7 गर्भवती महिलाओं का सुरक्षित प्रसव भी एम्बुलेंस कर्मियों द्वारा कराया गया, और जच्चा-बच्चा को सकुशल अस्पताल में भर्ती कराया गया‘‘।

साथ ही उन्होंने प्रदेशभर में त्यौहारों के दौरान गठित मोबाईल टीमों के औचक निरीक्षण के दौरान एम्बुलेंस कर्मियों की मुस्तैदी की सराहना करते हुए भविष्य में भी उनके द्वारा इसी सेवा भाव के साथ कार्य करते रहने की आशा जतायी है।

 

 

LEAVE A REPLY