Home उत्तराखंड डीएवी पीजी कॉलेज शिक्षक संघ के डॉ कौशल कुमार अध्यक्ष और डॉ...

डीएवी पीजी कॉलेज शिक्षक संघ के डॉ कौशल कुमार अध्यक्ष और डॉ गोपाल क्षेत्री सचिव निर्वाचित

54

डीएवी पीजी कॉलेज शिक्षक संघ के आम चुनाव कराए गए जिसमें शिक्षकों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया कुल 129 शिक्षकों में 124 शिक्षको ने आपने मत का प्रयोग किया। इस बार केवल अध्यक्ष और सचिव पद के लिए चुनाव कराए गए। क्योंकि अन्य सभी पदों पर एक एक आवेदन आने के कारण उन्हें निर्विरोध निर्वाचित किया गया। डॉ कौशल कुमार ने अध्यक्ष पद के लिए 86 मत प्राप्त किए जबकि अध्यक्ष पद के लिए डॉ राजेश पाल ने 38 मत प्राप्त किए । डॉ कौशल कुमार को अध्यक्ष पद पर विजयी घोषित किया गया । डॉ कौशल कुमार वर्तमान में कॉलेज के वाणिज्य विभाग में विभागाध्यक्ष है तथा पूर्व में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं और राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य भी है उन्होंने कहा कि वह महाविद्यालय में विद्यार्थियों और शिक्षकों के बीच सामंजस्य पैदा करके शैक्षिक माहौल को और अधिक विकसित और सौहार्द पूर्ण बनाएंगे साथ ही शिक्षकों के हित के लिए सदैव आगे रहेंगे ।सचिव पद के लिए डॉ गोपाल छेत्री ने 78 मत प्राप्त किए जबकि सचिव पद के लिए डॉ अमिता रायजादा ने 43 मत प्राप्त किए,डॉ गोपाल छेत्री को विजयी घोषित किया गया । डॉ. गोपाल छेत्री रसायन विज्ञान विभाग में प्रोफ़ेसर है । डॉ गोपाल छेत्री ने कहा कि वह महाविद्यालय की प्रतिष्ठा और शिक्षकों के मान सम्मान के लिए हमेशा प्रयासरत रहेंगे। विजई प्रत्याशियों को उप प्राचार्य डॉ एस पी जोशी ने प्रमाण पत्र दिए। जबकि अन्य पदों में सह सचिव पर डॉ विकास चौबे, उपाध्यक्ष पद के लिए डॉ. जेवीएस रौथान तथा ग्रुटा प्रतिनिधि के लिए डॉ.आलोक श्रीवास्तव और डॉ. रवि दीक्षित तथा पांच कार्यकारिणी के सदस्यों को पहले ही निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया जा चुका था। चुनाव अधिकारी डॉ रमेश शर्मा ने सफल आयोजन के लिए सभी को बधाई दी । चुनाव में गुरु टा सचिव डॉ डीके त्यागी, मेजर अतुल सिंह, डॉ. सविता रावत, मुख्य नियंता डॉ.एमएम जस्सल, डॉ राकेश पाठक, डॉ पुष्पा खंडूरी, डॉ रश्मि त्यागी रावत, डॉ. गुंजन पुरोहित, डॉ राखी उपाध्याय, डॉ एच एस रंधावा, डॉ पियूष मिश्रा, डॉ डीके शाही,डॉ डीके गुप्ता, डॉ पुष्पेंद्र शर्मा, डॉ अनूप मिश्रा डॉ हरी ओम शंकर आदि शिक्षकों ने कार्यकारिणी के सभी सदस्यों को बधाई और शुभकामनाएं दी

LEAVE A REPLY