Home उत्तराखंड चम्पावत को आदर्श जनपद के रूप में विकसित” विषय पर बोधिसत्व संवाद...

चम्पावत को आदर्श जनपद के रूप में विकसित” विषय पर बोधिसत्व संवाद आयोजित

49

मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने आज सीएम कैम्प कार्यालय में “चम्पावत जनपद को आदर्श जनपद के रूप में विकसित” विषय पर आयोजित बोधिसत्व संवाद कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए कहा कि हमें विज्ञान और तकनीकी का उपयोग करते हुए इकोलॉजी और इकोनॉमी में संतुलन रखना है। मुख्यमंत्री  धामी ने कहा कि हमें वर्ष 2025 तक उत्तराखण्ड को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के लिए पूरे समर्पित भाव से काम करना है। उत्तराखण्ड हिमालयी राज्यों को विकास की राह दिखा सकता है। इकोनॉमी और इकोलॉजी में संतुलन रखते हुए सतत विकास की रूपरेखा तैयार की जा रही है। उन्होंने कहा कि चम्पावत जिले को मॉडल के रूप में लिया गया है। चम्पावत में सभी तरह की भौगोलिक परिस्थितियां मौजूद हैं। यह न केवल उत्तराखण्ड बल्कि सभी हिमालयी राज्यों के लिए मॉडल बनेगा। चम्पावत को आदर्श ज़िला बनाने के लिए UCOST नोडल एजेंसी के रूप में काम करे। उन्होंने कहा कि चम्पावत में कार्बेट ट्रेल, आयुष ग्राम पर तेजी से काम करने के साथ ही हैलीपेड बनाने की सम्भावना का अध्ययन किया जाए। सिडकुल द्वारा छोटे इंडस्ट्रियल एरिया विकसित किये जा सकते हैं। यहां इको टूरिज्म, मत्स्य पालन व औद्यानिकी में भी काफी सम्भावनाएं हैं। बैठक में UCOST के निदेशक प्रो.दुर्गेश पंत, HoFF विनोद सिंघल, अपर सचिव  सी. रविशंकर,  रंजना,  बंशीधर तिवारी, डीएम चम्पावत नरेन्द्र सिंह भण्डारी सहित विभिन्न विभागों व नाबार्ड के अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY