Home क्राइम 20 हजार का इनामी बदमाश माओवादी भास्कर पांडे गिरफ्तार

20 हजार का इनामी बदमाश माओवादी भास्कर पांडे गिरफ्तार

527

उत्तराखंड एसटीएफ और अल्मोड़ा पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए कुमाऊं रेंज से फरार चल रहे इनामी माओवादी को गिरफ्तार किया है। आरोपी के खिलाफ 20 हजार का इनाम घोषित था। आरोपी नेपाल सीमा क्षेत्र से माओवादी गतिविधियों को संचालित कर रहा था। इधर, डीआईजी कुमाऊं रेंज नीलेश आनंद भरने ने टीम को बधाई दी है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अल्मोड़ा पंकज भट्ट व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखंड अजय सिंह के संयुक्त नेतृत्व में उत्तराखंड पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली हैं।उत्तराखंड में माओवादियों की गतिविधियों की कमान संभाल रहा भास्कर पांडेय अल्मोड़ा में संयुक्त कार्यवाही में गिरफ्तार किया है। गत छह माह से स्पेशल टास्क फोर्स और अल्मोड़ा पुलिस की संयुक्त टीम कर रही थी कार्य। गोपनीय सूत्रों से पूर्वी उत्तरप्रदेश, झारखंड, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, नेपाल आदि में की जा रही थी संयुक्त टीम द्वारा गोपनीय सूचना संकलन। विगत वर्ष 2017 में धारी,सोमेश्वर,द्वाराहाट में विधि विरुद्ध क्रियाकलाप निवारण अधिनियम में हुए थे तीन मुकदमे दर्ज। माओवादी भाष्कर पांडेय पर पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड द्वारा गिरफ्तारी पर बीस हज़ार का ईनाम हुआ था घोषित। माओवादी नेता की गिरफ्तारी से लेफ्ट विंग एक्सट्रेमिसम/माओवादी गतिविधियों का नेटवर्क पुनः उत्तराखंड में पैर पसारने से पहले ही किया गया ध्वस्त।विभिन्न इंटेलीजेंस एजेंसी लगी पूछताछ में,अहम जानकारी मिलने की उम्मीद। पुलिस उपमहानिरीक्षक कुमाऊँ नीलेश भरने द्वारा प्रेस कांफ्रेंस हल्द्वानी में विस्तार से किया गया घटना का उल्लेख। पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड द्वारा उल्लेखनीय कार्य के लिए टीम को दिया गया बीस हज़ार का ईनाम।

 

उत्तराखंड पुलिस की माओवाद के ताबूत में आखिरी कील

1)उत्तराखंड का सबसे वरिष्ठ माऊिस्ट लीडर भास्कर पांडे आज अल्मोड़ा पुलिस और एसटीएफ उत्तराखंड के ज्वाइंट एक्शन में गिरफ्तार किया गया
2)भास्कर पांडे 20000 का इनामी अपराधी था
3) 2017 के अल्मोड़ा और नैनीताल के लोक संपत्ति अधिनियम और विधि विरुद्ध क्रियाकलाप निवारण अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत था तीन मुकदमे , इसमें फरार था
4)शासन के लिए 50000 का इनाम बढ़ाने हेतु प्रस्ताव भेजा गया था
5)भास्कर पांडे हल्द्वानी में एक कोरियर जिसका नाम व राजेश बता रहा था को पेनड्राइव तथा कुछ लिखित मटेरियल देने जा रहा था हल्द्वानी रेलवे स्टेशन के पास
6)भास्कर पांडे इस दौरान किसान आंदोलन में भी काफी सक्रिय था
7)भास्कर पांडे खीम सिंह बोरा का सबसे खास साथी माना जाता है जिसे यूपी एसटीएफ ने पकड़ा था
8) इस दौरान भास्कर पांडे द्वारा भारत में कई जगह ट्रेनिंग ली गई मोओवाद से संबंधित
10)उसने अपने कई साथियों के साथ मिलकर यहां अपने क्रियाकलापों को क्रियाकलापों को अंजाम देने की कोशिश की
11) उत्तराखंड का आखरी वांटेड माओवादी
12 )2017 इलेक्शन में धारी तहसील में धारी तहसील की जीप जलाई थी।

LEAVE A REPLY