Home उत्तराखंड अन्तर्राष्ट्रीय पर्वतारोही सविता कंसवाल को गंगाश्री व ‘उत्तरकाशी गौरव सम्मान’

अन्तर्राष्ट्रीय पर्वतारोही सविता कंसवाल को गंगाश्री व ‘उत्तरकाशी गौरव सम्मान’

199

हिमालय प्लांट बैंक श्याम स्मृति वन में आयोजित समारोह में रूद्राक्ष का पौधा रोपण के पश्चात विश्व में उतरकाशी का नाम रोशन करने वाली उत्तरकाशी भटवाड़ी ब्लाक के लोंथरु गांव निवासी अन्तर्राष्ट्रीय पर्वतारोही सविता कंसवाल को हिमालय प्लांट बैंक, गंगा विश्व धरोहर मंच व अन्य विभिन्न संगठनों द्वारा ‘गंगाश्री’ व ‘उत्तरकाशी गौरव सम्मान’ प्रदान किया गया।

सविता ने हाल ही में विश्व की सर्वोच्च चोटी माउंट एवरेस्ट के बाद महज 16 दिन की अवधि में माउंट मकालू पर सफल आरोहण कर नेशनल रिकॉर्ड बनाया है। सविता कंसवाल ने 12 मई को दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट (8848.86 मीटर) पर तिरंगा फहराया था। औरउनके कदम यहीं नहीं रुके बल्कि इसके बाद उन्होंने माउंट मकालू (8463 मीटर) पर आरोहण किया। 16 दिन के अंदर दोनों पर्वतों पर आरोहण कर उन्होंने नया कीर्तिमान अपने नाम किया है। चार बहनों में सबसे छोटी सविता का जीवन संघर्षपूर्ण रहा है। सरकारी विद्यालयों पढ़ी सविता ने राजकीय इंटर कालेज मनेरी से माध्यमिक शिक्षा व स्नातक पीजी कालेज उत्तरकाशी से किया तत्पश्चात 2013 में नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) उत्तरकाशी से पर्वतारोहण का बेसिक, एडवांस और सर्च एंड रेस्क्यू कोर्स के साथ पर्वतारोहण प्रशिक्षक का कोर्स भी किया। सविता इससे पूर्व त्रिशूल पर्वत (7120 मीटर), हनुमान टिब्बा (5930 मीटर), कोलाहाई (5400 मीटर), द्रौपदी का डांडा (5680 मीटर), तुलियान चोटी (5500 मीटर), दुनिया की चौथी सबसे ऊंची चोटी माउंट ल्होत्से (8516 मीटर) पर सफल आरोहण कर चुकी हैं। श्याम स्मृति वन में उन्होंने बेटियों के लिए आगे बढ़ने के लिए अपना संदेश भी दिया। कार्यक्रम में उतरकाशी के वरिष्ठ नागरिक व गंगा विश्व धरोहर मंच के संरक्षक हरि सिंह राणा, पर्यावरणविद् प्रताप सिंह पोखरियाल ‘पर्यावरण प्रेमी’, सेवानिवृत्त प्रिंसीपल प्रताप सिंह बिष्ट ‘सघर्ष’, वरिष्ठ फिजिशियन डॉ. प्रेम पोखरियाल, माधव भट्ट, मुरली मनोहर भट्ट, पंडित रविन्द्र नौटियाल, मनीषा राणा, सुरेश वर्तवाल, गंगा विश्व धरोहर मंच के संयोजक डॉ शम्भू प्रसाद नौटियाल आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY