Home उत्तराखंड होली के दौरान किसी भी आपात स्थित में मुस्तैद रहेगी 108, तैयारियां...

होली के दौरान किसी भी आपात स्थित में मुस्तैद रहेगी 108, तैयारियां पूरी

293

प्रदेश में आगामी होली के त्यौहार और उसे हर्षोल्लास से मनाने की लोगों की तैयारियों के बीच 108 आपातकालीन एम्बुलेंस सेवा के जी0एम0 (प्राजेक्ट्स) अनिल शर्मा की अध्यक्षता में आज देहरादून स्थित मुख्यालय में बैठक आयोजित की गयी। इस दौरान श्री शर्मा ने अधिकारियों से त्यौहार के दौरान की गयी तैयारियों के बारे में जाना और अन्य जरूरी दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि होली के मद्देनज़र सभी एम्बुलेंस को हाई एलर्ट पर रखने के निर्देश दिये गये है। इस दौरान सभी कर्मचारी किसी भी आपात स्थित से निपटने के लिए मुस्तैद रहेंगे। उन्होंने कहा होली के दौरान संवेदनशील स्थानों पर तैनात एम्बुलेंस जाम में न फंसे इसके लिए भी व्यापक स्तर पर तकनीकी व्यवस्था की गयी है ताकि किसी भी आपात स्थित के दौरान जाम की पूर्व सूचना देहरादून स्थित केन्द्रीय काल सेन्टर को मिल सके। उन्होंने बताया संवेदनशील स्थानों पर तैनात एम्बुलेंस के जाम या टोलीें में फसने के मद्देनज़र पुलिस विभाग से भी सहयोग लिया जायेगा। जिसको देखते हुए देहरादून के साथ-साथ मैदानी जिलों में एम्बुलेंस में सुरक्षा कर्मी भी तैनात रहे इसका प्रयास किया जा रहा है ताकि आपात स्थिति मेें मरीज या उसके तीमारदार को असुविधा न हो और उनको समय से चिकित्सा उपचार मिल सके। देहरादून के सर्वे चौक, घंटाघर, जाखन, रायपुर, बल्लूपुर चौक, प्रेम नगर, विधानसभा, रेस कोर्स में मुख्य चौराहों पर एम्बुलेंस की तैनाती की गयी है ताकि आपात स्थित की सूचना मिलने पर तत्काल एम्बुलेंस को किसी भी दिशा में रवाना किया जा सके। उन्होंने कहा कि 108 सेवा के प्रदेश मुख्यालय देहरादून के साथ-साथ सभी जिलों में कार्यरत कर्मचारियों के होली के मद्देनज़र अवकाशों को निरस्त कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष होली के दौरान 28 मार्च से 30 मार्च के बीच अन्य दिनों की अपेक्षा रोड़ एक्सीडेन्ट की अधिक सूचनाएं मिलने के कारण अधिक सर्तकता बरती जा रही है ताकि किसी को परेशानियों का समाना न करना पड़े।
पिछले वर्ष के आंकडे निम्न है:
28 मार्च से 30 मार्च 2021

कुल केस प्रसव सम्बन्धी रोड़ ट्रैफिक एक्सीडेन्ट हृदय रोग सम्बन्धित केस अन्य
1321 396 271 75 579
इसके साथ ही 108 सेवा के सेन्ट्रल काल सेन्टर में अधिक काल आने की संभावना को देखते हुए अतरिक्त टेक्निकल स्टाफ की ड्यूटी लगायी गयी है ताकि इमरजेन्सी के दौरान तत्काल एम्बुलेंस को रवाना किया जा सके। प्रदेश के सभी जिलों में 108 आपातकालीन सेवा द्वारा मोबाईल टीमों का भी गठन किया गया है। यह मोबाईल टीमें सम्बन्धित जिलों में होली के दौरान सुबह 6 बजे से रात्रि 8 बजे तक मुख्य रूप से देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, नैनीताल के साथ-साथ अन्य जिलों में तैनात कर्मचारियों की मुस्तैदी का भी आंकलन करेगी। प्रदेश भर में अतरिक्त 18 बैकअप एम्बुलेंस भी तैनाती की गयी है ताकि किसी एम्बुलेंस आदि के खराब होने के स्थिति में तत्काल बैकअप एम्बुलेंस को वहां तैनात किया जा सके। इसके साथ ही किसी भी जिले में फ्यूल आदि की समस्या न हो इस इसको देखते हुए पहले से ही पर्याप्त फ्यूल का इन्तजाम कर दिया गया है। बैठक के दौरान अनिल शर्मा ने प्रदेश वासियों को सुरक्षित एवं सौहार्दपूर्ण होली की शुभकामनाएं देते हुए इस दौरान सर्दी, जुखाम से बचने हेतु सावधानियां बरतने और कोविड-19 संक्रमण से सुरक्षा को देखते हुए मास्क लगाने, और आवश्य शारीरिक दूरी बनाये रखने की भी सलाह दी है।
होली के दिन भी संचालित होगी खुशियों की सवारी
होली पर्व के दिन भी प्रदेश में खुशियों की सवारी (के0के0एस0) सेवा का संचालन किया जायेगा। जिसके तहत प्रसव उपरान्त जच्चा-बच्चा के साथ ही 1 साल से छोटे बच्चों को स्वस्थ होने के उपरान्त होली के दिन भी घर तक निःशुल्क पहुॅचाने की सुविधा मिलती रहेगी। गर्भवती महिलाओं को भी अवकाश के दिन आवश्यकता पड़ने पर अल्ट्रासाउण्ड जांच हेतु घर से अस्पताल और अस्पताल से बापस घर तक पहुॅचाया जायेगा। गौरतलब है कि प्रदेश में कुल 128 खुशियों की सवारी (के0के0एस0) सेवा का संचालन किया जा रहा है और देहरादून जनपद में इस योजना के तहत 17 खुशियों की सवारी संचालित की जा रही है। पर्व के दौरान इस सेवा के लाभार्थियों को किसी भी असुविधा का सामना न करना पड़े इसको देखते हुए कर्मचारियों को अलर्ट पर रखा गया है।

LEAVE A REPLY